आंकड़ों पर पहरा

आंकड़े बतायेंगें कि अल्पसंख्यक ऊंची जातियां देश के संसाधनों पर किस हद तक काबिज हैं। क्या इसी कारण सरकार इन आंकड़ों को जारी करने में सकुचा रही है

Read More

जनता परिवार लालू-नीतीश तक सीमित नहीं, यह 85% जनता का प्रतिनिधित्व है: डॉ. एजाज अली

एजाज अली पेशे से डॉक्टर हैं मगर सियासत में उनकी पहचान एक दलित और पिछड़े नेता के तौर पर रही है, जो वर्षों से दलित मुस्लिमों को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं.

Read More

आत्मानुभव की कोख से उपजा लेखन

पुस्तक में लेखिका का एक प्रमुख तर्क यह है कि मुख्यधारा के हिंदी लेखकों की सामान्य धारणा के विपरीत, दलित साहित्य का उदय 1980 के दशक में दलितों की आत्मकथाओं और कथा साहित्य के प्रकाशन से बहुत पहले हो गया था। दलितों ने सन् 1920 के दशक में ही हिन्दी साहित्य में अपनी आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी थी

Read More